आतंकी बस का पीछा कर बरसा रहे थे गोलियां, चारों ओर मची थी चीख-पुकार

वैष्णव पत्रिका :- जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले में 7 श्रद्धालुओं की मौत हो गई. इस हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-तैयब्बा ने ली है. आतंकियों के हमले में कुल 19 यात्री घायल हुए हैं. मरने वाले सभी श्रद्धालु गुजरात से हैं. हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी अहम बैठक बुलाई है.लेकिन आखिर ये हमला कैसे हुआ, कब हुआ. इस हमले की पूरी कहानी पढ़िए…

अपने रिस्क कर रहे थे यात्रा

कश्मीर में आतंकियों का निशाना बने अमरनाथ यात्री अपने रिस्क पर बाबा बर्फानी के दर्शन को जा रहे थे. जानकारी के मुताबिक इस रास्ते पर हमले से 50 मिनट पहले ही सुरक्षा हटाई गई थी और 8.20 बजे आतंकियों ने श्रद्धालुओं की बस को निशाना बनाया डाला. इससे पहले श्रद्धालुओं का आधिकारिक काफिला शाम 4 बजे अमरनाथ गुफा के लिए निकला था. इसके बाद 7.30 बजे पेट्रोल पार्टी ने गश्त हटा ली. ऐसे में इन यात्रियों को सुरक्षा नहीं मिल पाई.

श्रीनगर से अलग हुए थी बस

उच्च सूत्रों के मुताबिक गुजरात की ये बस शाम 5 बजे श्रीनगर से बिना पुलिस सुरक्षा के आगे बढ़ी थी. इसके बाद बस में सवार यात्री शायद श्रीनगर में घूमने लगे और काफिले से अलग हो गए. बताया जा रहा है बस श्राइन बोर्ड में रजिस्टर भी नहीं थी. हमले में अब तक 7 लोगों की मौत हो गई है. हताहतों में 2 पुरुष और 5 महिलाएं हैं. बस में कुल 54 लोग सवार थे. आतंकियों के हमले का शिकार हुई बस का नंबर GJ 09 Z 9976 है.

पहले पुलिस जीप पर हुआ हमला

आतंकियों ने सबसे पहले पुलिस जीप पर हमला बोला, उसके बाद बस पर गोलियां बरसानी शुरू की. बस के ड्राइवर ने बस दौड़ाई लेकिन फिर भी आतंकी लगातार गोलियां बरसाते रहे. इस दौरान बस में काफी चीख पुकार हुई.

वलसाड से निकली थी बस

ओम ट्रैवल्स की ये बस गुजरात के वलसाड से निकली थी. इनमें पांच महिला और एक पुरुष थे. आतंकी हमले में मरने वाले सभी श्रद्धालु गुजरात से हैं. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बैंक का कहना है कि ये बस आधिकारिक काफिले का हिस्सा नहीं थी और बस सभी सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया है.घायलों में से एक यात्री की तस्वीर सामने आई हैं. जो कि अस्पताल में भर्ती हैं. इनका नाम हर्ष देसाई है. हर्ष हमले का शिकार हुई बस के मालिक जवाहर भाई देसाई के बेटे हैं.

पूरी कर चुके थे यात्रा

सुरक्षा एजेंसियों से मिली जानकारी के मुताबिक ये यात्री दो दिन पहले ही अमरनाथ यात्रा पूरी कर चुके थे. ये लोग पिछले 24 घंटे से से श्रीनगर और आसपास के इलाकों में घूम रहे थे. पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां इस मामले में और जानकारी जुटा रही हैं.

nomortogelku.xyz Nomor Togel Hari Ini

टिप्पणियाँ